img

Sara Uttarakhand with Harda: Congress's campaign before the election, Harish Rawat's claim confirmed

Congress launched election campaign for Uttarakhand elections. The campaign with Sara Uttarakhand Harda will be started before the elections. Former CM Harish Rawat will lead this campaign. With this campaign, Rawat's candidature for the post of CM has become stronger. Under this, Rawat will visit 70 assembly seats in the state.

img

Cong starts ‘Sara U’khand Harda Ke Sang’ cam­paign

DEHRADUN: Bra­cing up for the 2022 state assembly elec­tion, the Con­gress state unit on Monday launched a month-long cam­paign “Sara Uttarakhand Harda Ke Sang” (All Uttarakhand with Har­ish Rawat) under lead­er­ship of former chief min­is­ter and...

img

Sara Uttarakhand with Harda: Congress's campaign before the election, Harish Rawat's claim confirmed

Congress launched election campaign for Uttarakhand elections. The campaign with Sara Uttarakhand Harda will be started before the elections. Former CM Harish Rawat will lead this campaign. With this campaign, Rawat's candidature for the post of CM has become stronger. Under this, Rawat will visit 70 assembly seats in the state.

img

OPINION : 'सारा उत्तराखंड हरदा संग', यानी कांग्रेस में जिसकी डफली, उसी का राग

Uttarakhand Election 2022 : ऐसा नहीं है कि गुटबाज़ी सिर्फ कांग्रेस के भीतर ही है. सत्ताधारी BJP भी इसी दिक्कत से जूझ रही है, लेकिन यहां ग़ौर करने लायक ये है कि कांग्रेस की लड़ाई सतह पर साफ दिख रही है. एक रोज़ पहले ही जब हरीश रावत गुट (Harish Rawat Group) ने 'सारा उत्तराखंड हरदा संग' कैंपेन लॉन्च किया, तो इस आयोजन में नेताओं की गैर मौजूदगी से सवाल खड़े हो गए. क्या हरीश रावत फिर CM बनने की तमन्ना रखते हैं? कांग्रेस में उनकी इस तमन्ना के लिए क्या जगह है? उत्तराखंड की सियासी डफली पर बज रहे रागों की परंपरा में कौन से सुर रहे हैं?

img

पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने लांच किया ‘सारा उत्तराखंड हरदा के संग’

उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने बीते दिन कुछ युवाओं के साथ ‘सारा उत्तराखंड हरदा के संग’ अभियान को लांच किया है। यह अभियान हरिद्वार बाइपास के सामने स्थित एक होटल में लांच किया गया, जिसमें विधायक ममता राकेश, समाजसेवी रेखा बहुगुणा और अदि्तीय मेंदोलिया भी शामिल थे। ‘सारा उत्तराखंड हरदा के संग’ अभियान में मुख्य अतिथि के रुप में पूर्व मुख्यमंत्री एवं प्रदेश कांग्रेस चुनाव अभियान समिति के अध्यक्ष हरीश रावत भी थे, अभियान से जुड़ने के लिए हरीश रावत द्वारा हेल्पलाइन नंबर व वेबसाइट को जारी किया गया।

img

Uttarakhand Election: कांग्रेस हाईकमान की क्यों नहीं मान रहे हरीश रावत? अब चला नया दांव

नई दिल्लीः Uttarakhand Election: उत्तराखंड चुनाव को लेकर भले ही कांग्रेस हाईकमान ने कोई चेहरा आगे न कर सामूहिक नेतृत्व में चुनाव लड़ने का फैसला किया हो, लेकिन सूबे के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत (Harish Rawat) की हसरतें हिलोरे मार रही हैं. पार्टी के भीतर एक गुट भी उन्हें मुख्यमंत्री के चेहरे के तौर पर प्रोजेक्ट करने में जुटा हुआ है

img

OPINION: ‘Sara Uttarakhand Harda Sang’, that is, the raga of the one whose duffle in Congress

Dehradun. 21 years ago, the state of Uttaranchal was separated from Uttar Pradesh and the command of Congress was handed over to the state, then late Indira Hridayesh was the MLA. But before she reached Dehradun and took charge, Harish Rawat became the president. Elections were held in 2002 and this time Harish Rawat became the Chief Minister, but late ND Tiwari K. The conflict situation in the Congress which was 21 years ago has not changed even today.

img

Harish Rawat launched the campaign ‘Sara Uttarakhand Harda Ke Sang’, the main theme Uttarakhandiyat Zindabad

The two-day assembly session scheduled for the first Gairsain is being held in Dehradun from December 9. Former CM Harish Rawat said in a press conference on Monday that we will also go there to find out the Rs 25,000 crore package announced by former CM Trivendra Singh Rawat for Gairsain. To the best of our knowledge, no development has been done. BJP is quick to take credit for Congress’s work but fails to fulfill the promises made to the people.

img

पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने युवाओं के अभियान ‘सारा उत्तराखंड हरदा के संग’ अभियान को लांच किया

कांग्रेस भले ही 2022 का चुनाव सामूहिक नेतृत्व में लड़ने का दावा करे, लेकिन पार्टी के भीतर एक गुट पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत को भी आगामी चुनाव में बतौर चेहरा देख रहा है। पूर्व मुख्यमंत्री एवं प्रदेश कांग्रेस चुनाव अभियान समिति अध्यक्ष हरीश रावत ने सोमवार को कुछ युवाओं के अभियान ‘सारा उत्तराखंड हरदा के संग’ अभियान को लांच किया।हरिद्वार बाइपास स्थित एक होटल में विधायक ममता राकेश, समाजसेवी रेखा बहुगुणा व अद्वितीय मेंदोलिया की मौजूदगी में यह अभियान लांच किया गया। इस मौके पर मुख्य अतिथि पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने अभियान से जुडऩे के लिए हेल्प लाइन नंबर और वेबसाइट को भी जारी किया।

img

OPINION : ‘सारा उत्तराखंड हरदा संग’, यानी कांग्रेस में जिसकी डफली, उसी का राग

देहरादून. 21 साल पहले उत्तर प्रदेश से अलग होकर उत्तरांचल राज्य बना और राज्य में कांग्रेस की कमान सौंपी गई, तब विधायक रही स्वर्गीय इंदिरा हृदयेश को. लेकिन वो देहरादून पहुंचकर कमान संभालतीं, इससे पहले बाज़ी पलट गई और हरीश रावत अध्यक्ष बन गए. 2002 में चुनाव हुए और इस बार मुख्यमंत्री हरीश रावत बनते, लेकिन बाज़ी हाथ लग गई स्वर्गीय एनडी तिवारी के. कांग्रेस में जो संघर्ष की स्थिति 21 साल पहले थी, वो आज भी नहीं बदली है

img

Tag: सारा उत्तराखंड हरदा के संग जब मैं मुख्यमंत्री था, तब भी यह समस्या थी, अब इसको लेकर कल पदयात्रा है

देहरादून। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत विधानसभा चुनाव के लिए सोशल मीडिया से लेकर धरातल तक जोर-शोर से सक्रिय हैं। कल (सात दिसंबर,2021) को रावत उस समस्या को लेकर पदयात्रा करेंगे, जो उनके मुख्यमंत्री रहते हुए भी सामने आई थी। यह बात रावत स्वयं स्वीकार करते हैं।

img

“सारा उत्तराखंड हरदा के संग” हरीश रावत का ये कैंपेन कराएगा कांग्रेस का बेड़ा पार ?

देहरादून: उत्तराखंड में मिशन 2022 में जुटी कांग्रेस ने अपने चुनाव अभियान की कमान पूर्व सीएम हरीश रावत को सौंपी हुई है। हरीश रावत लगातार उत्तराखंडियत को लेकर जनता के बीच जा रहे हैं। ऐसे में हरीश रावत के समर्थकों ने उत्तराखंडियत जिंदाबाद/सारे उत्तराखंड हरदा के संग कैंपेन लॉन्च किया है। इस कैंपेन के जरिए हरीश रावत के उत्तराखंडियत मॉडल को आम लोगों से जोड़ने की कोशिश शुरू हो गई है। इस कैंपेेन के जरिए हरीश रावत को एक बार फिर उत्‍तराखंडियत मॉडल के जरिए चेहरे पर दांव माना जा रहा हैा जिसमेंं हरीश रावत से जुडने के लिए टोल फ्री नंबर और वेबसाइट जारी की गई हैा